The Law’s Delay -Samuel Williams Cooper (1890)

Judicial procrastination is without doubt a great fault, but the public do not plead for haste in the matter of the adjustment of their rights they do not complain of slow work but of the long pauses when no work at all is done of the vast accumulation of untouched business.

संतति-नियमन या परिवार नियोजन-OSHO

गरीब की सबसे बड़ी जो दुविधा है, वह है प्राइवेसी का अभाव–भोजन नहीं, कपड़े नहीं। गरीब का सबसे बड़ा दुख है कि उसकी प्राइवेट जिंदगी नहीं हो सकती। वह अगर अपनी पत्नी से भी बात कर रहा हो तो भी पड़ोसी सुनता है। वह अपनी पत्नी से भी प्रेम नहीं कर सकता बिना इसके कि उसके बेटे-बेटी जान लें। गरीब की सबसे बड़ी तकलीफ है कि वह अकेले में नहीं हो सकता। उसकी प्राइवेसी जैसी कोई चीज नहीं है।

Foundation of Sociological Concepts

Social Thoughts of Auguste Comte-Karl Marx-Herbart Spencer-Vilfredo Pareto-Emile Durkheim-George Simmel-Max Weber-Karl Mannheim-Pitirim Sorokin has been summarised with additional supply of selective Bibliography.